22 जनवरी को अयोध्या में विराजेंगे रामलला अमरकंटक पहुंचा पूजित अक्षत कलश

Share this post

22 जनवरी को अयोध्या में विराजेंगे रामलला अमरकंटक पहुंचा पूजित अक्षत कलश

निकली शोभा यात्रा,घर-घर चित्र सौंप कर दिया जा रहा आमंत्रण

अनूपपुर/550 वर्ष के बाद प्रभु श्री रामचंद्र अपने भव्य मंदिर में आगामी 22 जनवरी को विराज ने जा रहे हैं श्री रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में विश्व के कोने-कोने से सनातनी अयोध्या पहुंच रहे हैं भारत के लिए ऐतिहासिक क्षण श्री राम लाल के प्राण प्रतिष्ठा आयोजन। इस आयोजन में उपस्थित होना सब के लिए गौरव का क्षण होगा। राम लाल प्राण प्रतिष्ठा आमंत्रण स्वरूप अयोध्या से पूजित अक्षत कलश 7 दिसंबर को पवित्र नगरी अमरकंटक पहुंच गया था। दिनांक 10/12/23 दिन रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं विश्व हिंदू परिषद जिला अनूपपुर द्वारा अपने सभी वैचारिक संगठन जैसे विद्या भारती, एकल अभियान, बनवासी विकास, भारतीय जनता पार्टी, स्वदेशी जागरण, बजरंग दल आदि संगठनों का समन्वयक बैठक रख कर अमरकंटक में आयोजित किया गया। उपरोक्त समन्वयक बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ महाकौशल प्रांत से आए आदरणीय श्री सुरेंद्र सिंह जी प्रांत सेवा प्रमुख, विभाग कार्यवाह राजेश पांडे जी एवं जिला कार्यवाह राकेश शुक्ला जी के अगुवाई में बैठक संपन्न हुआ। महाकौशल प्रांत द्वारा इस पूरे अभियान के लिए हर जिले के लिए अभियान संयोजक के रूप में श्री राकेश शुक्ला जी (जिला कारवां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) एवं सहसंयोजक श्री बालमीक जायसवाल (विश्व हिंदू परिषद जिला मंत्री) को तय किया गया है।

समन्वयक बैठक का उद्देश्य

बैठक का मुख्या विषय था की अयोध्या से आए अक्षत कलश एवं प्रभु श्री रामचंद्र जी के भव्य मंदिर का चित्र कार्यकर्ता अपने अपने क्षेत्र गांव-गांव में घर-घर जा कर अक्षर एवं चित्र देकर अयोध्या आने के लिए आमंत्रण किया जाना। संगठन का प्रयास है कि हिंदू धर्म के किसी भी समुदाय समाज का व्यक्ति इस अभियान से ना छूटे सभी के घर-घर जाकर ऐतिहासिक प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में अपने आस पास आयोजित होने वाले कार्यक्रम में उपस्थित होने के लिए न्योता दिया जाए।

पूजित अक्षत कलश शोभायात्रा

बैठक समाप्त होने के उपरांत अयोध्या भगवान श्री रामचन्द्र जी की जन्मभूमि से आए हुए पूजित अक्षत कलश विकिरण कार्यक्रम अमरकंटक जगत जननी मां नर्मदा मंदिर प्रांगण में किया गया है। उपरोक्त कार्यक्रम में अमरकंटक के साधु संत विशेष रूप से उपस्थित रहे। इस कार्यकर्म में मुख्य रूप से कल्याण आश्रम, मृत्युंजय आश्रम, शांतिकुंती आश्रम, गीता स्वाध्याय आश्रम, परमहंस धारकुंडी आश्रम, बर्फानी आश्रम एवं नर्मदा मंदिर के समस्त पुजारी परिवार इस कलश वितरण कार्यकर्म में उपस्थित रहे। जिले के प्रत्येक खंड उपखंड एवं ग्राम से आए सैकड़ो कार्यकर्ताओं को कलश का वितरण उपस्थित साधु संतों के द्वारा किया गया। कलश वितरण के उपरांत साधु संतों की अगुवाई में अमरकंटक नगर में पूजित अक्षत कलश की शोभा यात्रा निकाली गई। शोभा यात्रा मां नर्मदा मंदिर से निकल कर बस स्टैंड चौराहा अमरकंटक में समापन किया गया। 16 दिसंबर से 22 दिसंबर तक मंदिरों में विभिन्न धार्मिक आयोजन किए जाएंगे।

Bhupendra Patel
Author: Bhupendra Patel

Facebook
Twitter
LinkedIn

Related Posts

error: Content is protected !!