अमरकंटक नर्मदा डैम से मादा चीतल का किया गया रिस्किव कर बचाई गई जान ।

Share this post

अमरकंटक नर्मदा डैम से मादा चीतल का किया गया रिस्किव कर बचाई गई जान ।

 

अमरकंटक – श्रवण उपाध्याय

 

मां नर्मदा जी की उद्गम स्थली / स्थली पवित्र नगरी अमरकंटक में बांधा क्षेत्र में नर्मदा नदी में बना माधव सरोवर डैम में दोपहर बाद एक मादा चीतल अचानक नर्मदा नदी डैम में तैरते हुए लोगो को नजर आई । कुछ उपस्थित लोगो ने बताया की उसे कुत्तों ने दौड़ाए तो वह डर कर डैम में जा घुसी । लोगो ने तुरंत फॉरेस्ट विभाग और नगर पालिका अधिकारी को तत्काल सूचना दी । नगर परिषद के आला अधिकारी और फॉरेस्ट विभाग के रेंजर व कर्मचारीगण तत्काल मौके में पहुंचे और मादा चीतल को निकालने में जुट गए । यह मादा चीतल तैरते हुए आरंडी गुफा आश्रम में बने स्नान घाट किनारे पहुंच तैरती रही । लोगो ने बताया की इसे कुछ कुत्तों ने दौड़ाये जिसकी वजह से डर कर वह पानी में जा घुसी । सभी ने भरसक प्रयास किया की उसे बिना हाथ लगाए उसे निकाल कर जंगल की ओर वह कूच कर जाय पर ऐसा नहीं हुआ । अंत में फॉरेस्ट विभाग के कर्मचारियों ने नदी से उसे पकड़कर बाहर निकाला । निकालने के बाद कुछ समय उसे अकेला छोड़ दिया गया परंतु वह मादा चीतल कन्ही जाने के मूड में नहीं दिखी । कारण की उसके पैर में चोट भी लगी हुई थी । सभी ने विचार किया और उसे वाहन में रख पशुचिकित्सलय डाक्टर प्रवीण सिंह मसराम के पास लाया गया जन्हा इलाज करने के बाद फॉरेस्ट रेंज में उसे अभी रखा गया है । फॉरेस्ट रेंजर अमरकंटक व्ही के श्रीवास्तव ने बताया की मादा चीतल का बड़ी आसानी से रिस्किव किया गया , उसका इलाज करवाने के बाद अभी छोड़ा नहीं गया है , थोड़ा स्वास्थ लाभ मिल जाने के बाद उसी जंगल में छोड़ दिया जायेगा ।

उपस्थित अमरकंटक रेंजर व्ही के श्रीवास्तव , नगर परिषद अमरकंटक सीएमओ चैन सिंह परस्ते , नगर परिषद उपयंत्री देवल सिंह बघेल , फॉरेस्ट विभाग से मैडम साधना सिंह , संतोष कुमार वर्मा , जीया लाल राठौर , मैडम साधना सिंह , आर एन वर्मा , अरविंद कुमार पटेल , गुलाब सिंह यादव , भीखम दास बघेल , अरंडी गुफा आश्रम के केदार नाथ , पत्रकार आदि मौके पर रहे ।

Facebook
Twitter
LinkedIn

Related Posts

error: Content is protected !!