रेलवे पुलिस एवं 108 संचालक की उदासीनता ने ले ली महिला मजदूर की जान बिलखती रही अबोध बच्ची 

Share this post

रेलवे पुलिस एवं 108 संचालक की उदासीनता ने ले ली महिला मजदूर की जान बिलखती रही अबोध बच्ची 

अनूपपुर /दिनांक 16 मई 2024 दिन गुरुवार को एक दर्दनाक हादसा प्रशासन की चूक के वजह से देखने को मिला।घटना के संबंध में बताया गया कि डिंडोरी जिले के गाडासरई थाना अंतर्गत बरगांव निवासी शिवराम मार्को की 28 वर्षीय पत्नी सरोज मार्को अपनी 3 वर्ष उम्र की पुत्री मोनिका के साथ दो माह पहले अपने मायका से किसी के साथ उत्तरप्रदेश के कानपुर के समीप स्थित भर्वा सुमेरपुर नामक स्थान पर मजदूरी का काम करने गई रही जो 15 मई को ट्रेन में जनरल टिकट कटा कर अपनी पुत्री के साथ 16 मई की सुबह अनूपपुर स्टेशन में उतरी तथा इस बीच सरोज ने अपने भतीजे को फोन के माध्यम से अनूपपुर आने तथा पति शिवराम मार्को को अनूपपुर स्टेशन भेजने की बात कही इस बीच सरोज की अचानक ज्यादा तबीयत खराब हो जाने पर वह अनूपपुर के प्लेटफार्म क्रमांक एक में आरपीएफ थाना के पास अपनी बच्ची के साथ लेटी रही इसी बीच वह अचेत हो गई कई यात्रियों एवं अन्य के द्वारा स्टेशन मास्टर अनूपपुर,जीआरपी पुलिस अनूपपुर,आरपीएफ पुलिस अनूपपुर को जानकारी देते हुए 108 एम्बुलेंस पर फोन किया किंतु 108 एंबुलेंस संचालक जो भोपाल में स्थित है के द्वारा एंबुलेंस भेजने की जगह सूचना कर्ता से ही विभिन्न तरह की बातें आधे घंटे तक करते रहे वहीं सूचना के बाद भी जीआरपी पुलिस का एक अदना सा कर्मचारी गंभीर रूप से बीमार,अचेत अवस्था में पड़ी महिला को देखने तक की फुर्सत नहीं निकाल सका इस बीच यात्रियों द्वारा हंड्रेड डायल पुलिस को सूचना दिए जाने पर हंड्रेड डायल के आरक्षक कपिल सोलंकी,पायलट मनोज कुमार यादव रेलवे स्टेशन पहुंचकर उनके द्वारा भी स्टेशन मास्टर एवं जीआरपी थाना अनूपपुर को सूचना दी गई किंतु काफी देर बाद भी कोई नहीं आया घटना की जानकारी पर अनूपपुर के समाजसेवी शशिधर अग्रवाल भी मौके पर पहुंचकर हंड्रेड डायल पुलिस,आरपीएफ पुलिस एवं स्टेशन के अधिकारियों,सफाई कर्मचारियों के सहयोग से महिला को 108 एंबुलेंस से पीड़िता को जिला चिकित्सालय अनूपपुर लाया गया, इस बीच महिला यात्रियों द्वारा अचेत अवस्था में पड़ी महिला मजदूर की अबोध बालिका को अपने पास रखकर उसे बिस्किट एवं अन्य खाने को दिया गया, फोन से मिली जानकारी पर सरोज की पति शिवराम मार्को गांव से बस से चढ़ कर अनूपपुर स्टेशन पहुंचे तो उन्हें घटना की जानकारी दी गई जिला चिकि,के ड्यूटी डॉक्टर ने परीक्षण दौरान सरोज की पूर्व में ही मृत्यु हो जाने की जानकारी देते हुए अस्पताल पुलिस को सूचित किया अस्पताल पुलिस द्वारा मृतिका के पति एवं सामाजिक कार्यकर्ता तथा सफाई कर्मचारियों के सहयोग से शव का पंचनामा करते हुए ड्यूटी डॉक्टर कुलदीप सिंह से शव परीक्षण की कार्यवाही करते हुए कार्यवाही प्रारंभ की इस बीच जिला प्रशासन एवं मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी अनूपपुर डॉक्टर अशोक कुमार अवधिया के द्वारा मृतिका महिला मजदूर के शव को जिला चिकित्सालय के शव वाहन से पति के साथ पैतृक गांव डिंडोरी जिले भेजा गया।

Bhupendra Patel
Author: Bhupendra Patel

Facebook
Twitter
LinkedIn

Related Posts

error: Content is protected !!