ओपीएम के गार्ड अनुशासनहीन,बड़बोला सुरक्षा अधिकारी,सुपरवाइजर उद्योग की चोरी रोकने में नाकामयाब

Share this post

ओपीएम के गार्ड अनुशासनहीन,बड़बोला सुरक्षा अधिकारी,सुपरवाइजर उद्योग की चोरी रोकने में नाकामयाब

अनूपपुर/अमलाई/प्राप्त जानकारी के अनुसार ओरिएंट पेपर मिल कागज कारखाना अमलाई में इन दिनों उद्योग के अंदर एवं रिहायसी कॉलोनी में चोरों के द्वारा चोरी को अंजाम देने की प्रक्रिया आए दिन देखने को मिल रही है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुरक्षा विभाग का सुरक्षा सुपरवाइजर अपने बड़बोलेपन के लिए कर्मचारी और अधिकारियों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है इनके बड़ बोलेपन के कारण उद्योग में कार्यरत कर्मचारी श्रमिक एवं ठेकेदारी मजदूर इनकी कार्य शैली को लेकर जहां उनके द्वारा अनुशासनहीनता के साथ अमर्यादित भाषाओं का प्रयोग करते हुए वहां आने जाने वाले आगंतुक या फिर कहे तो किसी भी ऐसे व्यक्ति या ठेकेदार के साथ दुर्व्यवहार पूर्ण आचरण करते नजर आते हैं मुख्य द्वार पर तैनात किए गए सुरक्षा गार्ड अपनी आदतों को लेकर इन दिनों चर्चा में है जिनके द्वारा सुरक्षा एजेंसी के नियमों को दरकिनार करते हुए अपने कर्तव्य और सुरक्षा दायित्व से हटकर अनाप-शनाप हरकतें करने पर आमदा हैं। कारण यह है कि कागज कारखाना में तैनात किए गए सुरक्षा कर्मी बिना किसी ट्रेनिंग के भर्ती किए गए हैं जिन्हें सुरक्षा एजेंसी के नियमों के बारे में क ख ग तक नहीं पता इन्हीं आदतों के कारण कुछ दिनों पूर्व उद्योग के अंदर तैनात किए गए सुरक्षा गार्ड उद्योग के प्लांट में सोते हुए नजर आए थे जिसकी वीडियो वायरल भी हुई थी किंतु सुरक्षा गार्ड्स के बेपरवाह होने को लेकर सुरक्षा अधिकारी कुछ छुपाने का प्रयास कर रहे हैं और अपनी चुप्पी साधे हैं।
यही नहीं इन सुरक्षा गार्ड्स की उपस्थिति में उनके कार्य स्थल से ही दिनदहाड़े चोरियां हो रही हैं लेकिन चोरियों को छुपाने का प्रयास बदस्तूर जारी है जबकि कुछ दिनों पूर्व उद्योग के 12 नंबर फिल्टर प्लांट में सरेआम चोरियों की गई और इसकी जानकारी सुरक्षा अधिकारी मनजीत सिंह एवं सुरक्षा सुपरवाइजर पीके सिंह को होने के बावजूद भी ना तो चोरों पर किसी प्रकार की कार्यवाही की गई और ना ही वहां तैनात सुरक्षा गार्ड की मौजूदगी में हुई चोरी को लेकर शक्ति बरती गई। इस प्रकार लापरवाही को लेकर आए दिन उद्योग के अंदर एवं बाहर चोरी का सिलसिला जारी है और उद्योग में तैनात एमएसएफ सुरक्षा गार्ड्स की मौजूदगी में सुरक्षा अधिकारी और सुरक्षा सुपरवाइजर कुछ ना कर पाने में अपने आप को सक्षम नहीं पा रहे हैं। सूत्र बदलते हैं कि ओरिएंट पेपर मिल में तैनात किए गए प्राइवेट सुरक्षा गार्ड जिले के कई बैंकिंग संस्थानों में भी तैनात हैं जिनके वेतनमान का भुगतान उद्योग के सुरक्षा अधिकारी और सुरक्षा सुपरवाइजर की मिली भगत से बैंकों में कार्यरत सुरक्षा गार्ड का मानदेय उद्योग में तैनात किए गए सुरक्षा गार्ड्स की संख्या के साथ जोड़कर उद्योग के माध्यम से वेतन भुगतान किया जा रहा कमीशन खोरी की आड पर बैंकों के द्वारा दिए जाने वाले मानदेय को कई महीनो से हजम किया जा रहा है। विदित हो कि इससे पूर्व उद्योग के सुरक्षा अधिकारी और सुरक्षा गार्ड प्रबंधन एवं उद्योग की सुरक्षा को लेकर अत्यंत ही संवेदनशील हुआ करते थे जिसके कारण उद्योग में होने वाली घटनाएं व दुर्घटना को रोकने का प्रयास निरंतर किया जाता रहा है और बीच-बीच में सुरक्षा को लेकर मॉक ड्रिल के माध्यम से उद्योग में कार्य कर्मचारी मजदूर वास श्रमिकों को सुरक्षा इंतजाम को लेकर सजग करने का प्रयास किया जाता था किंतु अब की स्थिति में ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिल रहा है।
इस प्रकार उद्योग की सुरक्षा को लेकर तैनात किए गए प्राइवेट सिक्योरिटी सर्विस के सुरक्षा गार्ड्स के सजग ना होने के कारण हो रही असुविधा को लेकर उद्योग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं संबंधित विभाग के उच्च अधिकारी से इन पर त्वरित कार्यवाही करने की अपेक्षा स्थानीय जनमानस ने जताई है।

Bhupendra Patel
Author: Bhupendra Patel

Facebook
Twitter
LinkedIn

Related Posts

error: Content is protected !!