😢अत्यंत दुखद घटना,सादर अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि💐 शंभूधारा जलाशय में डूबने से युवक की मौत,एसडीआरएफ की टीम को देर रात मिला शव.. 

Share this post

😢अत्यंत दुखद घटना,सादर अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि💐

शंभूधारा जलाशय में डूबने से युवक की मौत,एसडीआरएफ की टीम को देर रात मिला शव.. 

अनूपपुर/अमरकंटक के शंभूधारा जलाशय में पिकनिक मनाने गए युवक की नहाने के दौरान 26 वर्षीय गजेंद्र पटेल पिता श्री राम चरण पटेल निवासी गांव धिरौल चौंकी देवहरा थाना चचाई की डूबने से मृत्यु हो गई। सूचना मिलने के उपरांत भी काफी समय बीतने के पश्चात एसडीआरएफ के गोताखोर की टीम रात्रि 8:00 बजे के बाद पहुंचकर शव को ढूंढना प्रारंभ किया जिसे देर रात 1:30 बजे बाहर निकाला गया जिस पर प्रशासन के इस लापरवाही पर परिजनों ने नाराजगी भी जताई।

ज्ञात हो कि शनिवार को देवहरा चौकी थाना चचाई के ग्राम धिरोल निवासी टीवीएस शोरूम अनूपपुर के संचालक इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय इकाई एबीवीपी के पूर्व अध्यक्ष 26 वर्षीय गजेंद्र पटेल अपने साथियों मनीष,पवन,राजेश एवं आलोक के साथ अमरकंटक घूमने निकले थे जहां दोपहर 2:00 बजे पिकनिक स्पॉट शंभूधारा पहुंचे इस दौरान कुछ साथी खाना खा रहे थे कुछ शंभूधारा जलाशय में नहा रहे थे इस दौरान गजेंद्र पटेल भी जलाशय में कूदा और जलाशय से बाहर नहीं निकल सका इससे परेशान साथियों ने कुछ देर तक तलाश करने के बाद स्थानीय लोगों की मदद से ढूंढने का प्रयास किया किंतु सफल नहीं हुए सूचना मिलने पर अमरकंटक पुलिस ने एसडीआरएफ अनूपपुर को सूचना दी परंतु उक्त टीम देर से पहुंची मौके पर पहुंचे पुष्पराजगढ़ एसडीएम, अमरकंटक नायब तहसीलदार एवं वन विभाग की टीम ने प्रयास किया लेकिन शव को ढूंढने में नाकामयाब रहे रात्रि 8:00 बजे के बाद एसडीआरएफ के गोताखोरों की टीम पहुंचने पर ढूंढने का अभियान प्रारंभ किया तब जाकर जलाशय में तलाश करते हुए रात्रि 1:30 बजे दलदल में फंसे गजेंद्र का शव मिला एसडीआरएफ की टीम और पुलिस ने शव को बाहर निकाला जिसे वर्तमान समय में जिला चिकित्सालय अनूपपुर लाया गया जहां रविवार को परिजनों की उपस्थिति में पोस्टमार्टम किया जाकर अंतिम संस्कार हेतु शव परिजनों को सौपा जाएगा। श्रवण करने वाले समस्त शुभचिंतक जनों ने इस अपूरणीय क्षति हृदय विदारक घटना पर सादर अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की है। ईश्वर से प्रार्थना है कि अपने श्री चरणों में स्थान दें एवं परिवार जनों को यह अपार दुख सहने की क्षमता प्रदान करें।

Bhupendra Patel
Author: Bhupendra Patel

Facebook
Twitter
LinkedIn

Related Posts

error: Content is protected !!