रुद्रगंगा में कुत्तों से संतो व भक्तों ने बचाई चीतल की जान 

Share this post

रुद्रगंगा में कुत्तों से संतो व भक्तों ने बचाई चीतल की जान 

अमरकंटक / (श्रवण उपाध्याय) मां नर्मदा जी की उद्गम स्थली / पवित्र नगरी अमरकंटक में आज गंगा दशहरा के पावन पर्व पर रुद्रगंगा स्थल पास बना छोटा चेकडैम में एक युवा चीतल को कुत्तों ने घेर रखा था । फक्कड़ बाबा आश्रम में चल रहे धार्मिक अनुष्ठान में उपस्थित संत एवम भक्तो के जब उस चीतल पर नजर पड़ी तो कुत्तों को भगाकर चीतल को पानी से बाहर निकाल कर फॉरेस्ट विभाग को सूचना दी गई । 

फॉरेस्ट रेंजर व्ही के श्रीवास्तव ने बताया की सूचना प्राप्त होते ही टीम भेजी गई तथा चीतल को वन्हा से उठा कर लाया गया और तत्काल पशु चिकित्सालय उपचार हेतु भेजा गया । चीतल के गले में एक फेंसिंग की कटिली तार चुभी हुई थी और कुत्तों ने चीतल के पीछे भाग को थोड़ा नोच भी डाला है । लोगो द्वारा चिंता जताया जा रहा था की जब चीतल जंगल से नदी की ओर पानी पीने के लिए आ रहा होगा तो उसने कटिली फेंसिंग में छलांग लगाने पर वह फस गया और तार गले में जा घुसी और वह टूट कर रह गई । घायल अवस्था में देख कई कुत्तों द्वारा भी आक्रमण किया गया होगा जन्हा वह पानी में जा घुसा। वन्हा भी कुत्ते पीछा किए हुए थे जिन्हे भगाकर चीतल की रक्षा की गई । रुद्रगंगा पास बना छोटा चेक डैम में वह कब से पडा हुआ था , यह कह पाना मुस्किल है । जब लोगो की नजर पड़ी तो उसे पानी से बाहर निकाल लाया गया और उसके पैर में कपड़ा बांध कर लिटा दिया गया ताकि वह भाग न सके तथा फॉरेस्ट विभाग को तत्काल सूचना दी गई । उसका उपचार जारी है ।

Bhupendra Patel
Author: Bhupendra Patel

Facebook
Twitter
LinkedIn

Related Posts

error: Content is protected !!